Sheep Farming Business in Hindi

Sheep Farming Business in Hindi

Sheep Farming Business एक पारंपरिक व्यवसाय है जिसे लोग सदियों से करते आ रहे हैं। भेड़ पालन व्यवसाय से लोगों को बहुत लाभ होता है। भेड़ पालन से केवल मांस ही नहीं अपितु ऊन, दूध, चमड़ा भी प्राप्त होता है। भेड़ पालन का व्यवसाय करने में न तो लोगों को अधिक investment की आवश्यकता होती है और न ही अधिक देख-रेख की आवश्यकता होती है। ये व्यवसाय गाँव में रहने वाले लोगों के लिए काफी लाभप्रद होता है। भेड़ पालन का व्यवसाय करने के लिए भारत की जलवायु के आधार पर आप अलग-अलग किस्म की नस्लों को पाल सकते हैं और काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

भेड़ एक छोटा जानवर होता है और छोटा होने के साथ ही काफी शांत प्रिय भी होता है तथा इसकी growth भी बहुत तेजी से होता है साथ ही बाज़ार में भेड़ के ऊन का डिमांड बहुत ज्यादा होने के कारण लोग भेड़ पालन करने में ज्यादा रूचि लेते हैं। प्राचीन काल से ही ऐसा माना जा रहा है की कांस्य युगीन सभ्यता में मानव ने सबसे पहला पालतू पशु भेड़ को ही बनाया था।

दोस्तों अगर आप भी भेड़ पालन को व्यवसाय के रूप में शुरू करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढियेगा क्योंकि इस पोस्ट में मैं आपको सारी जानकारी देने वाला हूँ ताकि आप भी Sheep Farming Business कर अच्छा मुनाफा कमा पायें। इसी तरह आप मछली पालन व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं।

भेड़ पालन की शुरुआत कैसे करें ? (How to start sheep farming business)

भेड़ पालन व्यवसाय को शुरू करने से पहले आपको एक बिज़नस प्लान तैयार करना पड़ेगा जैसे आपके लिए किस प्रजाति की भेड़ सबसे अच्छी रहेगी, आपके एरिया का स्थान कैसा है, जिस जगह पर भेड़ पालन व्यवसाय को स्टार्ट करना चाहते हैं वहां पर बिजली, पानी, चारे की व्यवस्था है या नहीं। कहने का मतलब है की अगर आप Sheep farming Business से अधिक लाभ कमाना चाहते हैं तो पहले आपको इस व्यवसाय से सम्बंधित सारी जानकारी होनी चाहिए। Sheep farming business plan के लिए नीचे कुछ स्टेप्स दे रहा हूँ जिसे पढ़कर आप भी आसानी से Bhed Palan कर सकते हैं।

1. भेड़ पालन के लिए उपयुक्त स्थान

भारत में भेड़ पालन कम वर्षा और शुष्क क्षेत्रों वाले भाग में किया जाता है। भारत के जम्मू कश्मीर राज्य में भेड़ पालन सबसे अधिक किया जाता है। आप भेड़ पालन व्यवसाय को पथरीले और पहाड़ी भागों में भी कर सकते हैं। हमारे देश में लगभग 50 लाख से भी अधिक परिवार भेड़ पालन और बकरी पालन में लगे हुए हैं। अगर भेड़ पालन करने वाला व्यक्ति सीमान्त कृषक या भूमिहीन है तो भी Sheep farming आसानी से कर सकता है।

भेड़ पालन करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है जगह का चुनाव करना। आप ऐसी जगह पर भेड़ पालन कर सकते हैं जहाँ पर उचित रूप से हरे चारे की व्यवस्था हो, पानी की व्यवस्था हो एवं चिकित्सा की व्यवस्था हो। साथ ही आपको ये ध्यान रखना है कि मार्केटिंग और ट्रांसपोर्टेशन की सुविधा उपलब्ध हो अगर ये सारी व्यवस्था है तो आप भेड़ पालन व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

2. भेड़ों की नस्लें

sheep farming business
sheep farming business in hindi

जलवायु के आधार पर अलग-अलग जगह पर अलग-अलग प्रजाति की भेड़ें पाली जाती हैं कुछ भेड़ों की प्रजाति इस प्रकार है –

  • Deccani
  • Coimbatore
  • Mandya
  • Bellary
  • Trichey Black
  • Neelgiri
  • Banner
  • Gaddi
  • Hasan
  • Marwadi
  • Merino
  • Sufflok
  • Dorset
  • Cordially
  • Jaisalmeri
  • HampShire
  • Gurez Sheep

दोस्तों इसके अलावा कुछ और भी प्रजातियाँ पायी जाती हैं जैसे केंगूरी, तिरुची, मेचेरी, सोनाडी, मगरा, चोकला आदि हैं जिसका पालन व्यावसायिक स्तर पर किया जाता है।

इसे भी पढ़िए – मुर्गी पालन का व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

3. बेसिक हाउसिंग

अगर उद्दमी छोटे स्तर पर भेड़ पालन करना चाहता है तो उसे अधिक जगह या विशेष आकार की आवश्यकता नहीं होती है लेकिन अगर उद्दमी इस व्यवसाय को बृहद पैमाने पर व्यावसायिक रूप से करना चाहता है तो ऐसी जगह करना चाहिए जहाँ भेड़ के लिए मौसम अनुकूल हो। एक वयस्क भेड़ को लगभग 15 से 20 वर्गफुट जगह की आवश्यकता होती है और छत कम से कम 6 से 7 फीट फर्श से ऊंचा होना चाहिए। साथ ही उद्दमी को भेड़ पालन के लिए उपयुक्त हवा और जल निकासी की व्यवस्था होनी चाहिए। अगर कमरे के अन्दर प्रकाश नहीं जाता हो तो बिजली की व्यवस्था करनी चाहिए।

इसके अलावा समय-समय पर आपको ध्यान देना है की फर्श गीला न होने पाए। फर्श को हमेशा सूखा रखने की कोशिश करें। भेड़ों का आवास ऐसी जगह बनाना चाहिए जहाँ भेड़ों को प्रतिकूल जलवायु की परिस्थितियों से बचा सके।

4. भेड़ के लिए चारे की व्यवस्था

जैसा की हम सभी को पता है की पशुओं को पौष्टिक चारे की आवश्यकता होती है उसी प्रकार भेड़ों को भी खिलाने के लिए भी उच्च एवं पौष्टिक आहार की जरुरत होती है। भेड़ को खिलाने के लिए हरे चारे के रूप में सभी प्रकार के घास, पौधों तथा कॉर्न्स की आवश्यकता होती है। साथ ही भेड़ों को समय-समय पर ताजा पानी भी पिलाते रहना चाहिए जिससे भेड़ों को रोगों से लड़ने में सहायता मिलती है। भेड़ के लिए चारे का सेवन उसकी उम्र व स्थिति पर निर्भर करता है।

5. भेड़ों की देखभाल

दोस्तों उद्दमी कोई भी व्यवसाय कर रहा हो, लाभ तभी होगा जब उस व्यवसाय को मन लगाकर किया जायेगा। भेड़ पालन में मेहनत कम लेकिन कमाई ज्यादा है और ये तभी संभव है जब आप अपने काम के प्रति सचेत रहें। भेड़ पालन में कमाई तभी होगी जब आपके द्वारा पाले गए भेड़ स्वस्थ और तंदरुस्त होंगे। इसके लिए भेड़ की देखभाल अच्छे से करें। पौष्टिक आहार उपलब्ध कराएँ, अच्छे आवास की सुविधा दें। भेड़ के वयस्क हो जाने पर बीच-बीच में बेंचते रहना चाहिए साथ ही ऊन भी निकालते रहना चाहिए।

गर्मी या बरसात से पहले ही भेड़ के शरीर से ऊन की कटाई कर लेनी चाहिए क्योंकि अधिक गर्मी पड़ने से जब ऊन नहीं निकाला जायेगा तो भेड़ें अधिक गर्मी की वजह से बीमार पड़ सकती हैं। भेड़ का समय-समय पर उपचार कराते रहना चाहिए इससे भेड़ में मृत्यु दर कम होती है। अगर आप थोडा सा भी लापरवाही दिखाते हैं तो आपका भारी नुकसान हो सकता है अधिक गर्मी व बरसात के मौसम में प्रजनन व बच्चों का जन्म होने से मृत्युदर बढ़ जाता है।

6. मेमने की देखभाल

भेड़ के बच्चे की देखभाल अच्छी तरह से करना चाहिए। समय-समय पर दूध पिलाते रहना चाहिए। भरपूर पोषण देने से रोग निरोधक क्षमता बढती है ध्यान रहे की मेमना भूखा न रह जाये।

इसे भी पढ़ें – डेरी फार्म खोलकर पैसे कैसे कमायें ?

7. भेड़ों में होने वाले रोग व टीकाकरण

आये दिन भेड़ों में बहुत सारी बीमारियाँ हो जाती हैं जैसे – Anthrax’s, Titanus, Internal Parasites, Pregnancy texomia, Respiratory disease (like Bloat/Indigestion, Mastitis, Scrapie आदि। इन बिमारियों से बचने के लिए विभिन्न प्रकार का टीका लगवाना चाहिए जो भेड़ों को रोगों से बचाता है। समय-समय पर भेड़ों की मल कृमि की जाँच करवाकर पशु चिकित्सक से उचित परामर्श लेते रहना चाहिए।

sheep farming business
sheep farming business kaise kare

भेड़ पालन करने के फायदे (Sheep farming benefits)

Sheep farming business से आपको काफी फायदा रहेगा इसलिए आपको भेड़ पालन जरूर करना चाहिए। आइये जानते हैं की अगर आप भेड़ पालन का व्यवसाय शुरू करते हैं तो आपको कौन-कौन से फायदे होने वाले हैं-

  • भेड़ एक उर्जावान पशु होता है जो हर मौसम को सहन करने में सक्षम होता है।
  • भेड़ पालन व्यवसाय में अधिक देखभाल करने की जरुरत नहीं होती है।
  • हमारे शरीर के लिए भेंड का मांस काफी स्वास्थ्य वर्धक होता है इसलिए लगातार बाज़ार में इसकी मान बनी रहती है।
  • शीप farming के बाद आप केवल ऊन ही नहीं बल्कि दूध, मांस और खाल भी प्राप्त कर सकते हैं जिसे बेंचकर अच्छी कमाई की जा सकती है।
  • भेड़ पालन को आप छोटी पूँजी में भी शुरू कर सकते हैं।
  • भेड़ पालन का व्यवसाय करने के लिए किसी कुशल श्रमिक की आवश्यकता नहीं होती है।
  • भेड़ों के खान-पान में अधिक खर्च नहीं आता है ये विभिन्न प्रकार के घास और कुछ पौष्टिक आहार देना होता है।
  • किसान अपने खेतों में अनाज की उत्पादकता बढ़ाने के लिए भेड़ के गोबर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • Sheep farming Business के लिए किसी विशेष योग्यता की जरुरत नहीं होती है इसे अनपढ़ भी कर सकता है।
  • व्यावसायिक स्तर पर भेड़ पालन व्यवसाय करने के लिए बैंकों से आसानी से लोन भी मिल जाता है।

Sheep Farming Business के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स

  • शुरुआत में भेड़ों की संख्या कम रखें धीरे-धीरे भेड़ों की संख्या में वृद्धि करें इससे आपके ऊपर अधिक बोझ नहीं रहेगा।
  • भेड़ पालन व्यवसाय शुरू करने से पहले पूरी योजना बनायें।
  • भेड़ पालन में आने वाली दिक्कतों का पता लगाने के लिए नजदीकी किसी sheep farming में अवश्य जाएँ।
  • भेड़ पालन व्यवसाय शुरू करने से पहले और बाद में प्रशिक्षण होने वाले स्थानों पर अवश्य जाएँ।
  • अधिक जानकारी के लिए इ व्यवसाय से सम्बंधित youtube पर विडियो जरूर देखें।
  • पास के पशु चिकित्सा केंद्र में जाकर पशु चिकित्सक से परामर्श जरूर लें की कौन से नस्ल की भेड़ें सही रहेंगी।
  • ज्यादा उम्र की भेड़ों को बिलकुल भी न खरीदें।
  • सभी भेड़ों की समय-समय पर निगरानी करते रहें और किसी भेड़ के असामान्य दिखने पर उसे अन्य भेड़ों से अलग कर दें उसे तुरंत पशु चिकित्सक को दिखाएँ और उसे तब तक अलग रखें। जब तक वो पूर्ण रूप से स्वस्थ नहीं हो जाता।
  • प्रजनन के समय रात को नर और मादा भेड़ को न मिलने दें।
  • गर्भधारण किये हुए भेड़ और बच्चों के लिए अलग से पौष्टिक आहार प्रदान करें।

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने आपको Sheep farming business in hindi की जानकारी तो दे दी फिर भी अगर आप भेड़ पालन का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो अच्छी तरह से इसकी जानकारी लेने के बाद ही अपना व्यवसाय शुरू करें अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करिए धन्यवाद।

इसे जरूर पढ़िए – मशरूम की खेती कैसे शुरू करें ?

Leave a comment